फुटबॉल के नियम क्या-क्या हैं

Football Rules in Hindi: फुटबॉल. विश्व में सबसे ज्यादा देखा जाने वाला खेल. Football खेलना जितना आसान है उसकी गणित को समझना उतना ही कठिन (उनके लिए जो खेल-कूद से बहुत दूर रहते हैं). फुटबॉल को कई आयु वर्गों में खेला जाता है. 

फुटबॉल टीम में एक समय पर एक टीम के अधिकतम 11 खिलाड़ी मैदान पर होते हैं. दोनों टीमों के 11-11 खिलाड़ी अपने गोल पोस्ट पर गोल को बचाने का और विरोधी टीम के गोल पोस्ट में गोल करने का प्रयास करते हैं. 90 मिनट के इस खेल में 45-45 मिनट के 2 हाफ होते हैं. इन दोनों हाफ में कुछ एक्स्ट्रा टाइम भी निकलता है, जो मैच के दौरान खिलाड़ियों के चोटिल होने, खिलाड़ी सब्सीट्यूशन के बीच खेल रुकने का समय या अन्य किसी वजह से मैच में बर्बाद हुए समय को ध्यान में रखकर निकाला जाता है. 

मैच में कुछ टर्म होते हैं जिन्हें समझना जरुरी है. व कुछ टर्म के अलावा अलग-अलग शब्दों से मैदान को व खिलाड़ियों को निरुपित किया जाता है. तो चलिए जानते हैं क्या हैं वो टर्म.

Football Rules in Hindi: खेल शुरू होने का निर्णय टॉस के जरिए होता है, इसमें टॉस जीतने वाला कप्तान यह तय करता है कि उसकी टीम गोल पोस्ट पर अटैक करना चाहती है या फिर बॉल को किक ऑफ (किक मारना) करना चाहती है. 

  • किक-ऑफ: फुटबॉल की शुरुआत किक मारने (kick-off) के साथ होती है. जिसे टॉस जीतने वाली टीम शुरु करती है.
  • समय: मैच 90 मिनट का होता है, जिसमें 45-45 मिनट के दो हिस्सों में बांटा जाता है. 90 मिनट पूरा होने के बाद कुछ समय जोड़ा जाता है जिसे इंजुरी टाइम कहा जाता है.
  • पेनाल्टी किक: गोलकीपर की पॉजिशन या डिफेंस करने वाली टीम अगर फॉउल करती है तो दूसरी टीम को पेनाल्टी किक मिलती है. यह किक गोलकीपर के ठीक सामने से ली जाती है.
  • पेनल्टी शूटआउट: लीग गेम्स में खेल ड्रॉ के साथ खत्म हो सकता है, लेकिन कुछ नॉक आउट गेम्स में अगर खेल तय समय तक टाई रहा तो वह मैच एक्स्ट्रा टाइम तक चल सकता है अगर एक्स्ट्रा टाइम के बाद भी टाई रहता है तो पेनल्टी शूटआउट का प्रयोग किया जाता है.
  • ऑफसाइड: ऑफ साइड नियम में आगे के प्लेयर बॉल के बिना बचाव करते दूसरे प्लेयर के आगे नहीं जा सकते, खासकर विरोधी टीम की गोल रेखा के एकदम पास.
  • थ्रो-इन: जब बॉल पूरी तरह से रेखा पार कर जाती है, तब उस विरोधी टीम को इनाम मिलता है, जो बॉल आखिरी बार छूता है.
  • कॉर्नर किक: जब बॉल बिना गोल के ही गोल रेखा को पार कर जाती है और डिफेंस करने वाली टीम द्वारा बॉल को आखिरी बार छूने के कारण हमलावर टीम को इनाम में मिलता है.
  • इनडायरेक्ट फ्री किक: यह विरोधी टीम को इनाम में मिलती है, जब बिना किसी विशेष फाउल के बॉल को बाहर भेज दिया जाए और खेल रुक जाए.
  • यलो कार्ड: रेफरी प्लेयर को पनिशमेंट के रूप में उसके गलत बर्ताव के लिए यलो कार्ड दिखाकर मैदान के बाहर भेज सकता है. और अगर किसी खिलाड़ी को दो यलो कार्ड मिलते हैं तो उसके दो यलो कार्ड एक रेड कार्ड के बराबर हो जाते हैं और उसे मैदान से बाहर जाना पड़ता है.
  • रेड कार्ड: एक ही खेल में दूसरी बार पीला कार्ड मिलने का मतलब है रेड कार्ड का मिलना और उसके बाद मैदान से बाहर अगर एक प्लेयर को बाहर निकाल दिया जाता है तो उसकी जगह कोई दूसरा प्लेयर नहीं आ सकता है मतलब उस समय उस टीम को 10 खिलाड़ियों के साथ ही खेलना पड़ता है.

मैच के अन्त में यह देखा जाता है की किस टीम ने ज्यादा गोल किए हैं जो टीम मैच में ज्यादा गोल करती है मैच वही टीम अपने नाम करती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *