IPL 2020 के रद्द होने से होगा लगभग 10000 करोड़ का नुकसान

इंडियन प्रीमियर लीग का 13 वां सीजन साल 2020 में खेला जाना है, जिसको लेकर पहले 29 मार्च से कार्यक्रम तय किया गया था, जो 24 मई तक खेला जाना था, लेकिन पूरे ग्लोबल में इस समय कोरोना वायरस को लेकर जिस तरह की दहशत को देखा जा रहा है, उसके बाद आईपीएल के इस सीजन को 15 अप्रैल तक के लिए टाल दिया गया है।

IPL 2020

भारत सरकार ने कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए आईपीएल 2020 के सीजन को टाल देने या फिर रद्द करने का सुझाव दिया था, जिसमें उन्होंने मैच को खाली स्टेडियम में कराने की ही सिर्फ मंजूरी थी। वहीं महाराष्ट्रा की राज्य सरकार, कर्नाटका राज्य सरकार और दिल्ली राज्य सरकार ने अपने यहां पर आईपीएल के मैच कराने से साफ तौर पर इंकार कर दिया है।

BCCI के साथ दूसरी संस्थाओं को भी होगा भारी नुकसान

sourav-ganguly-bcci

यदि आईपीएल का 13 वां सीजन कोरोना वायरस की वजह से रद्द किया जाता है, तो इससे बीसीसीआई और इससे जुड़ी दूसरी संस्थाओं को भारी नुकसान उठाना पड़ेगा। क्योंकि आईपीएल से जुड़ने वाले 35 प्रतिशत लोग विदेशी होते हैं, जिसमें खिलाड़ी और ब्रॉडकास्ट टीम से भी जुड़े हुए लोग भी शामिल हैं। 

वहीं 15 अप्रैल तक वीजा प्रतिबंधो के कारण भी विदेशी नागरिकों के भारत आने पर रोक लगने से भी यह सारी चीजें प्रभावित होंगी जिस कारण आईपीएल से जुड़े कई स्पांसर और वेंडरो को भारी-भरकम नुकसान उठाना पड़ेगा। एक खबर के अनुसार यदि आईपीएल का 13 वां सीजन रद्द होता है, तो कम से कम 10000 करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ सकता है, जिसमें फ्रेंचाइजी और खिलाड़ियों की फीस तक शामिल है और यह सारा नुकसान बीसीसीआई को अपनी तरफ से उठाना पड़ेगा।

फिलहाल 15 अप्रैल तक आईपीएल के 13 वें सीजन को टाल देने का फैसला किया गया है, ताकि स्थिती का सही आकलन करने का बीसीसीआई को समय मिल सके वहीं वीजा प्रतिबंधो के हटने के बाद विदेशी खिलाड़ियों का भी शामिल होने का रास्ता साफ हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *