24 जुलाई के पहले मैच में यूपी के योद्धा हुए ढेर, तो वहीं दूसरा मुकाबला रहा दिल्ली के नाम

bengal warriors vs UP YoddhaMatch Summary 24 July 2019: प्रो कबड्डी लीग में आज दो मुकाबले खेले गए. पहला मुकाबला यूपी बनाम बंगाल तो वहीं दूसरा दिल्ली बनाम तेलुगू टाइटंस का था. लीग में अपना पहला मैच खेल रहे बंगाल वॉरियर्स के नबीबक्श ने अपने शानदार सुपर-10 की मदद से यूपी योद्धा के खिलाफ मैच को 48-17 से जीता. इस मैच में बंगाल ने 31 प्वाइंट्स के अंतर जीत हासिल की जो पीकेएल के इतिहास की उसकी सबसे बड़ी जीत है.

बंगाल की टीम मैच के पहले हाफ तक 17-9 से आगे थी. बंगाल ने रेड से 24, टैकल से 14, ऑलआउट से 8 और 2 अतिरिक्त अंक जुटाए. नबीबक्श के 10 अंकों के अलावा मनिंदर सिंह ने 9 और बलदेव सिंह ने 7 पॉइंट्स हासिल किए. यूपी योद्धा ने पहले हाफ में अच्छी शुरुआत की और एक समय पर 4-0 की बढ़त हासिल की. इसके बाद बंगाल ने वापसी की और 13वें मिनट में यूपी योद्धा को ऑलआउट किया. मगर मैच खत्म होते होते बंगाल की टीम ने इतिहास रच दिया और पीकेएल के इतिहास में अपने नाम सबसे बड़ी जीत हासिल कर ली.

दिन का दूसरा मुकाबला रहा दबंग दिल्ली के नाम | Match Summary 24 July 2019 Dabang Delhi vs Telugu Titans | Match Summary 24 July 2019

दिन का दूसरा मुकाबला दिल्ली बनाम तेलुगू टाइटंस का था. मैच पहले हाफ तक लगभग बराबर ही चला. शुरुआती 20 मिनट के बाद टीम का स्कोर 13-12 था. मैच में तेलुगू की तरफ से देसाई बंधू का दबदबा देखने को मिला जहाँ छोटे भाई सिद्धार्थ देसाई नें कुल 4 रेड व 4 बोनस के साथ 8 प्वाइंट्स अपने व टीम के लिए हासिल किए तो वहीं बडे  भाई जोकि प्रो कबड्डी इतिहास का अपना पहला मैच खेल रहे थे उन्होंने 13 रेड व 5 बोनस प्वाइंट्स के साथ सुपर 10 लिया. उनके कुल 18 प्वाइंट्स थे.

मगर एक समय सुपर रेड करने के बाद जब टीम ने बढ़त बना ली थी उसके बाद सूरज देसाई के आखिरी कुछ समय में कोर्ट से बाहर करने वाला फैसला सबके सर के ऊपर से निकल गया. उनकी जगह आखिरी कुछ समय में एक युवा खिलाड़ी को मैदान पर उतरा. और गौर करने वाली बात यह है कि, सूरज जोकि अन्त तक 17 प्वाइंट्स हासिल कर चुके थे उन्हें पहले मैट से बाहर बिठाया फिर मैच की अन्तिम रेड के लिए उन्हें फिर मैट पर वापस बुलाया जहाँ उन्हें मैच टाई करने के लिए 2 प्वाइंट्स व जीतने के लिए सुपर रेड की जरुरत थी ऐसे में दिल्ली ने सेफ खेल खेलते हुए एक खिलाड़ी का बलिदान देते हुए तेलुगू की टीम को सिर्फ 1 प्वाइंट दिया.

गौरतलब है कि, सूरज देसाई पूरे मैच में एक बार भी रेड करते हुए आउट नहीं हुए और टीम के लिए सर्वाधिक 18 प्वाइंट्स जोड़े तो वहीं एक खास बात औऱ रहीं मैच में की देसाई बंधू के दोनों भाईयों ने प्रो कबड्डी के इतिहास के अपने पहले ही मैच में सुपर 10 लिया है.

आपको ये भी रोचक लगेगा:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *