साउथ अफ्रिका टीम के 5 सबसे सफल तेज गेंजबाज

साल 1888 ये वो साल था जब साउथ अफ्रिका क्रिकेट कि दुनिया मे कदम रख रही थी, क्रिकेट के लिए साउथ अफ्रिका और साउथ अफ्रिका के लिए क्रिकेट कोई नयी चिज नही है। क्रिकेट के दुनिया मे अपने पहले कदम पर इंगलैंड और ऑस्ट्रेलिया जैसे टीमो के साथ मैच खेलकर क्रिकेट का बेहतर अनुभव को अपने साथ जोडा।

आईसीसी द्वारा देश की रंगभेद नीति के कारण लगाए गए अंतर्राष्ट्रीय प्रतिबंध, हालांकि, 1992 में वापसी करने से पहले उनमें गिरावट आयी लेकिन फिर भी, दक्षिण अफ्रीका, आज, दुनिया की सबसे बेहतर क्रिकेट टीमों मे गिना जाता।

इस आर्टिकल हम आपको साउथ अफ्रिका टीम के 5 सबसे सफल तेज गेंजबाज के बारे मे बतायेगे। जिन्होने साउथ अफ्रिका टीम के हर जीत मे अहम योगदान दिया है और साउथ अफ्रिका टीम को एक बेहतर टीम बनाने मे मदद की है।

1.शॉन पोलॉक (1995-2008)

साउथ अफ्रिका के टीम के सफल गेंदबाजो मे से एक और साउथ अफ्रिका टीम के सफल कप्तानो मे से एक शॉन पोलॉक ने खेल को उस समय छोड दिया था, जब भारत मे IPL की शुरुआत हुयी थी। अपने तेज गेंदो से दुनिया भर बल्लेबाज को सहम जाने पर मजबुर कर देने वाले इस गेंदबाज का अंतरर्राष्ट्रीय करीयर शानदार रहा है। शॉन पोलॉक ने अपने अंतरर्राष्ट्रीय करीयर मे 108 टेस्ट मैच मे करीब 23.12 के औसत से 421 विकेट हासिल किये है, 303 वनडे मैच मे करीब 24.51 के औसत से 393 विकेट हासिल किये है और 12 टी-20 मे करीब 20.6 के औसत से 15 विकेट हासिल किया है। 

2.डेल स्टेन (2004-अभी तक

South Africa Bowler Dale Steyn Set To Make International Comeback With T20 World Cup In Mind

अपने रफ्तार और अपने स्विंग गेंदो से बल्लेबाजो को अपने गेंद पर नचाने वाले इस गेंदबाज को कौन नही जानता होगा, स्मुथ बॉलिंग एक्शन, लंबा कद किसी भी बल्लेबाज के मन मे खौफ भरने के लिए काफी है। इस गेंदबाज के नाम के अलावा इनके काम भी काफी प्रसिध्द है और चर्चीत है। डेल स्टेन ने अपने अंतरर्राष्ट्रीय करीयर मे 99 टेस्ट मैच मे करीब 22.95 के औसत से 439 विकेट हासिल किये है, 125 वनडे मैच मे करीब 25.96 के औसत से 196 विकेट हासिल किये है और 47 टी-20 मे करीब 18.36 के औसत से 64 विकेट हासिल किया है।

3.मखाया नतिनी (1998-2009)

साउथ अफ्रिका टीम ने हमेशा से ही दुनिया को बेहतर गेंदबाज दिया है और उनमे से एक है मखाया नतिनी, अपने लंबे कद और लंबे रनअप और सटिक लाइन लेंथ से दुनिया भर के बल्लेबाजो को तंग करना जैसे इन्हे पसंद था और ये गेंदबाज इस काम को बडे ही मजे से करता था। मखाया नतिनी ने अपने अंतरर्राष्ट्रीय करीयर मे 101 टेस्ट मैच मे करीब 28.83 के औसत से 390 विकेट हासिल किये है, 173 वनडे मैच मे करीब 24.66 के औसत से 266 विकेट हासिल किये है और 10 टी-20 मे करीब 49.67 के औसत से 6 विकेट हासिल किया है।

4.एलेन डोनाल्ड(1991-2003)

किसी जमाने मे बल्लेबाजो के मन मे खौफ भरने के लिए इस गेंदबाज का लनाम और इस गेंदबाज के द्वारा फेंके गेंद ही काफी थे, 90 के दशक मे स गेंददबाज का तुती बोलता था। एलेन डोनाल्ड ने अपने अंतरर्राष्ट्रीय करीयर मे 72 टेस्ट मैच मे करीब 22.25 के औसत से 330 विकेट हासिल किये है, 164 वनडे मैच मे करीब 21.79 के औसत से 272 विकेट हासिल किया है।

5.जैक कालिस(1995-2014)

BELFAST, UNITED KINGDOM – JUNE 26: Jacques Kallis of South Africa in action during the Future Cup one day international match between India and South Africa at the Civil Service Cricket Ground, Stormont on June 26, 2007 in Belfast, Northern Ireland. (Photo by Richard Heathcote/Getty Images)

दक्षिण अफ्रीका के और दुनिया के एकमात्र ऑलराउंडर सबसे महान क्रिकेटर जैक कैलिस एकमात्र ऐसे खिलाडी हैं जिन्होंने 10000 से अधिक रन बनाए हैं और खेल के दोन प्रारूपों में 250 से अधिक विकेट लिए हैं। मखाया नतिनी ने अपने अंतरर्राष्ट्रीय करीयर मे 166 टेस्ट मैच मे करीब 32.65 के औसत से 292 विकेट हासिल किये है, 328 वनडे मैच मे करीब 31.79 के औसत से 273 विकेट हासिल किये है और 25 टी-20 मे करीब 27.75 के औसत से 12 विकेट हासिल किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *