टेस्ट मे पाकिस्तान टीम के 5 सबसे सफल कप्तान

पाकिस्तान क्रिकेट टीम ने दुनिया के सामने हमेशा से तेज गेंदबाज लेकर आता रहा है, इसका ये मतलब नही है कि बल्लेबाज नही होते है लेकिन पाकिस्तान टीम अपने तेज गेंदबाजो के भरोसे ज्यादा रहा है। हाल के सालो मे भी हमे ये चिज देखने के लिए मिला है, वकार युनिस, वसीम अकरम, उमर गुल जैसे तेज गेंदबाज, जिन्होने पाकिस्तान के लिए अच्छा प्रदर्शन भी किया है और पाकिस्तान टीम को मैच जीतना मे अहम योगदान भी दिया है। अजीब बात तो यह भी है कि पाकिस्तान टीम के जितने भी सफल कप्तान हुए है उनमे से ज्यादातर तेज गेंदबाज ही रहे है।      

इस आर्टिकल हम आपको टेस्ट प्रारुप मे पाकिस्तान टीम के 5 सबसे सफल कप्तानो के बारे मे बतायेगे। जिन्होने पाकिस्तान टीम कि दशा और दिशा दोनो हि बदल दिया है।

5. इंजमाम उल हक (2001-07)

inzamam ul haq

पाकिस्तान टीम के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजो मे शुमार इंजमाम उल हक उस खिलाडी का नाम है, जिसने अपने टेस्ट करीयर मे सिर्फ 82 अर्धशतक जडा है और उन खिलाडीयो के लिए प्रेरणा है जो मोटे होने के कारण क्रिकेट नही खेल पाते है। साल 2007 के वर्ल्ड कप मे पाकिस्तान टीम के खराब प्रदर्शन के बाद इंजमाम उल हक ने पाकिस्तान टीम के कप्तानी पद से इस्तीफा दे दिया था। इंजमाम उल हक को साल 2001 मे मोईन खान के कप्तानी छोडने के बाद कप्तानी सौंपा गया था। इंजमाम उल हक ने साल 2001 से लेकर साल 2007 तक पाकिस्तान टीम कि कप्तानी संभाली थी, अपने 6 साल के कप्तानी मे इंजमाम उल हक ने पाकिस्तान टीम के लिए 31 टेस्ट मैच मे कप्तानी की जिसमे से 11 मैचो मे जीत, 11 मैच मे हार और 9 मैच ड्रॉ रहा है।

4. इमरान खान (1982-92)

Imran Khan

आज के समय मे पाकिस्तान देश के वजीरे आजम और किसी समय पर पाकिस्तान टीम के हरफनमौला गेंदबाज रहे इमरान खान ने भी अपनी कप्तानी मे पाकिस्तान टीम को काफी मैचो मे जीत दिलाया था और साल 1992 मे ही पाकिस्तान टीम को वर्ल्ड कप विजेता भी बनाया था। इमरान खान को साल 1982 मे कप्तानी सौंपा गया था। इमरान खान ने साल 1982 से लेकर साल 1992 तक पाकिस्तान टीम कि कप्तानी संभाली थी, अपने 10 साल के कप्तानी मे इमरान खान ने पाकिस्तान टीम के लिए दूसरा सबसे ज्यादा 48 टेस्ट मैच मे कप्तानी की जिसमे से 14 मैचो मे जीत, 8 मैच मे हार और 26 मैच ड्रॉ रहा है। इमरान खान एकलौते ऐसे कप्तान जिन्होने पाकिस्तान टीम को टेस्ट मे विश्व विजेता बनाया है और पाकिस्तान एक ही बार वर्ल्ड कप जीत पाया है।  इमरान खान एक कार्यवाहक कप्तान क तौर पर पाकिस्तान टीम के लिए कप्तानी कर रहे थे और नाही वो कभी पुर्णरुप से कप्तान बन पाये थे क्येकि इस समय मे जावेद मियांदाद पाकिस्तान टीम के कप्तान थे।

3. जावेद मियांदाद (1980-93)

अब इस खिलाडी को कौन नही जानता है, जो नही जानते है उन्हे बता दें की जावेद एक अनुशासनहीन खिलाडी है, जिन्हे खेलना तो आता है लेकिन अनुशासन के साथ नहीं। अब इस खिलाडी ने खेलना छोड दिया है लेकिन पने बड-बोलेपण के लिए सुर्खियो मे बने रहते है। जावेद मियांदाद को साल 1980 मे पाकिस्तान टीम की कप्तानी का जिम्मा सौंपा गया था। जावेद मियांदाद ने साल 1980 से लेकर साल 1993 तक पाकिस्तान टीम कि कप्तानी संभाली थी, अपने 13 साल के कप्तानी मे जावेद मियांदाद ने पाकिस्तान टीम के लिए 34 टेस्ट मैच मे कप्तानी की जिसमे से 14 मैचो मे जीत, 6 मैच मे हार और 14 मैच ड्रॉ रहा है।   

2.मिस्बाह उल हक (2010-17)

misbah-ul-haq-pakistan

पाकिस्तान टीम के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज और एक बेहतर कप्तान मिस्बाह उल हक भी कभी वर्ल्ड कप मे पाकिस्तान के इज्जत को नही बचा सके। साल 2007 पहला टी-20 वर्ल्ड कप का फाइनल मैच मे पाकिस्तान टीम को 5 रनो से हारना पडा था, इस मैच मे मिस्बाह उल हक ने कप्तानी पारी खेली थी औऱ अंतिम विकेट भी मिस्बाह उल हक का गिरा था। मिस्बाह उल हक को साल 2008 मे मोहम्मद युसुफ के कप्तानी छोडने के बाद कप्तानी सौंपा गया था। मिस्बाह उल हक ने साल 2010 से लेकर साल 2017 तक पाकिस्तान टीम कि कप्तानी संभाली थी, अपने 7 साल के कप्तानी मे मिस्बाह उल हक ने पाकिस्तान टीम के लिए 56 टेस्ट मैच मे कप्तानी की जिसमे से 26 मैचो मे जीत, 19 मैच मे हार और 11 मैच ड्रॉ रहा है।

1.वसीम अकरम (1993-1999)

Wasim Akram

अब इस खिलाडी को कौन नही जानता है, पाकिस्तान टीम के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज और उससे भी बेहतर इंसान। अपने तेज गेंदो पर बल्लेबाजो को झुकाने वाले इस बल्लेबाजो या ये कहे कि अपने गेंदो से बल्लेबाजो मे खौफ भरने वाले इस खिलाडी ने भरातीय बल्लेबाजो को बहुत तंग किया है। वसीम अकरम को साल 1993 मे इमरान खान के कप्तानी छोडने के बाद कप्तानी सौंपा गया था। वसीम अकरम ने साल 1993 से लेकर साल 1999 तक पाकिस्तान टीम कि कप्तानी संभाली थी, अपने 6 साल के कप्तानी मे वसीम अकरम ने पाकिस्तान टीम के लिए 25 टेस्ट मैच मे कप्तानी की जिसमे से 12 मैचो मे जीत, 8 मैच मे हार और 5 मैच ड्रॉ रहा है। अगर ये कहे की वसीम अकरम अबतक पाकिस्तान टीम के सबसे सफल कप्तान रहा है तो ये कहना गलत नही होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *