वेस्टइंडीज टीम के 5 सबसे सफल कप्तान

क्रिकेट की दुनिया मे एक समय पर सिर्फ वेस्टइंडिज टीम का ही परचम लहराता था, एक से बढकर एक बल्लेबाज, एक से एक बढकर गेंदबाज और और ये दोनो चिजे काफी दुनिया भर टीमो को हराने के लिए। क्रिकेट की शुरुआत इंगलैंड ने की लेकिन किसी समय पर इस खेल मे वर्चस्व वेस्टइंडिज का ही था।

इस आर्टिकल हम आपको वेस्टइंडीज टीम के 5 सबसे सफल कप्तानो के बारे मे बतायेगे। जिन्होने वेस्टइंडीज टीम कि दशा और दिशा दोनो हि बदल दिया है, इस फेहरिस्त मे ऐसे कप्तान है जिन्होने 2 बार वर्ल्ड कप वेस्टइंडीज के नाम कर चुके है।

1.क्लाइव लॉयड(1974-85)

इस खिलाडी को हम सभी जानते है, अपने बल्लेबाजी से लेकर अपने कप्तानी तक हर जगह क्लाइव लॉयड अपना लोहा दुनिया को मनवा चुके है। वेस्टइंडिज के एकलौते कप्तान जिन्होने वेस्टइंडिज टीम को दो बार लगातार वर्ल्ड कप विजेता बनाया था।

क्लाइव लॉयड को साल 1974 मे गारफिल्ड सोबर्स के कप्तानी छोडने के बाद कप्तान बनाया गया था। क्लाइव लॉयड ने साल 1974 से लेकर साल 1985 तक वेस्टइंडिज टीम कि कप्तानी संभाली थी, अपने 11 साल के कप्तानी मे क्लाइव लॉयड ने वेस्टइंडिज टीम के लिए 84 वनडे मैच मे कप्तानी की जिसमे से 64 मैचो मे जीत, 18 मैच मे हार और 2 मैच ड्रॉ रहा है। इसके अलावा क्लाइव लॉयड ने 74 टेस्ट मैच मे कप्तानी की जिसमे से 36 मैचो मे जीत, 12 मैच मे हार और 26 मैच ड्रॉ रहा है। वर्ल्ड कप के शुरुआती दो साल कप्तान क्लाइव लॉयड और वेस्टइंडिज टीम ने नाम ही रहा था, साल 1974 और साल 1979 मे वर्ल्ड जीतने के बाद साल वेस्टइंडिज टीम ने 1983 वर्ल्ड कप के फाइनल मे उपविजेता रही थी।

2.विवियन रिचर्डस(1980-1991)

इसी खिलाडी ने क्रिकेट खेलने का अंदाज बदल दिया था, कहते है क्रिकेट का खेल समय के गंभीरता को देखते हुए खेलना चाहिए लेकिन इस खिलाडी मतलब विवियन रिचर्डस के लिए ये नियम नही था। विवियन रिचर्डस अपने अंदाज से ही मैच का खेलना पसंद करते थे और इसी सोच के साथ वो क्रिकेट खेलते थे।

vivian richards

विवियन रिचर्डस को साल 1985 मे क्लाइव लॉयड के कप्तानी छोडने के बाद कप्तान बनाया गया था। विवियन रिचर्डस  ने साल 1980 से लेकर साल 1991 तक वेस्टइंडिज टीम कि कप्तानी संभाली थी, अपने 11 साल के कप्तानी मे विवियन रिचर्डस ने वेस्टइंडिज टीम के लिए 105 वनडे मैच मे कप्तानी की जिसमे से 67 मैचो मे जीत, 36 मैच मे हार और 2 मैच ड्रॉ रहा है। इसके अलावा विवियन रिचर्डस ने 50 टेस्ट मैच मे कप्तानी की जिसमे से 27 मैचो मे जीत, 8 मैच मे हार और 15 मैच ड्रॉ रहा है। विवियन रिचर्डस एक कार्यवाहक कप्तान के तौर पर कप्तानी करते थे लेकिन साल 1985 मे क्लाइव लॉयड के कप्तानी छोडने के बाद पुर्णरुप से कप्तान बने थे।

3.रिची रिचर्डसन(1991-96)

वेस्टइंडिज के सर्वश्रेष्ठ ऑलराउंडर मे एक से रिची रिचर्डसन, रिची रिचर्डसन ने बेपरवाह बल्लेबाजी और तेज गेंजबाजी से दुनिया को अपने खेल का कायल बना लिया था। रिची रिचर्डसन को साल 1991 मे विवियन रिचर्डस के कप्तानी छोडने के बाद कप्तान बनाया गया था। रिची रिचर्डसन  ने साल 1991 से लेकर साल 1996 तक वेस्टइंडिज टीम कि कप्तानी संभाली थी, अपने 5 साल के कप्तानी मे रिची रिचर्डसन ने वेस्टइंडिज टीम के लिए 87 वनडे मैच मे कप्तानी की जिसमे से 46 मैचो मे जीत, 36 मैच मे हार और 5 मैच ड्रॉ रहा है। इसके अलावा रिची रिचर्डसन ने 24 टेस्ट मैच मे कप्तानी की जिसमे से 11 मैचो मे जीत, 6 मैच मे हार और 7 मैच ड्रॉ रहा है।

4.ब्रायन लारा(1994-2006)

इस खिलाडी से इनके द्वारा बनाया गया रिकॉर्ड लोगो के जेहन मे आज तक है और इस रिकॉर्ड को तोडना भी उतना ही मुश्किल है। जी, हां हम बात कर रहे है ब्रायन लारा के बारे मे और उनके द्वारा टेस्ट क्रिकेट मे बनाये गये 400 रन के पारी कि।

ब्रायन लारा को साल 1996 मे रिची रिचर्डसन के कप्तानी छोडने के बाद कप्तान बनाया गया था। ब्रायन लारा  ने साल 1994 से लेकर साल 2006 तक वेस्टइंडिज टीम कि कप्तानी संभाली थी, अपने 12 साल के कप्तानी मे ब्रायन लारा ने वेस्टइंडिज टीम के लिए सबसे ज्यादा 125 वनडे मैच मे कप्तानी की जिसमे से 59 मैचो मे जीत, 59 मैच मे हार और 7 मैच ड्रॉ रहा है। इसके अलावा ब्रायन लारा ने 47 टेस्ट मैच मे कप्तानी की जिसमे से 10 मैचो मे जीत, 26 मैच मे हार और 11 मैच ड्रॉ रहा है। ब्रायन लारा एक कार्यवाहक कप्तान के तौर पर कप्तानी करते थे लेकिन साल 1996 मे रिची रिचर्डसन के कप्तानी छोडने के बाद पुर्णरुप से कप्तान बने थे।

  1. डैरेन सैमी (2010-13)

darren-sammy

वेस्टइंडीज के इस हरफनमोला ऑलराउंडर के कप्तानी मे भी वेस्टइंडीज टीम ने अरसो बाद कोई वर्ल्ड कप जीता था। डैरेन सैमी के कप्तानी मे वेस्टइंडीज टीम दो बार टी-20(2012 और 2014 टी-20 वर्ल्ड कप) विश्व विजेता बनी है और वेस्टइंडीज टीम एकलौती टीम है जिसने दो बार टी-20 वर्ल्ड कप जीता है और दो बार 50 ओवर वर्ल्ड कप भी। डैरेन सैमी को साल 2010 मे क्रिस गेल के कप्तानी छोडने के बाद कप्तान बनाया गया था। डैरेन सैमी ने साल 2010 से लेकर साल 2013 तक वेस्टइंडिज टीम कि कप्तानी संभाली थी, अपने 3 साल के कप्तानी मे डैरेन सैमी ने वेस्टइंडिज टीम के लिए 51 वनडे मैच मे कप्तानी की जिसमे से 19 मैचो मे जीत, 30 मैच मे हार और 2 मैच ड्रॉ रहा है। इसके अलावा डैरेन सैमी ने 30 टेस्ट मैच मे कप्तानी की जिसमे से 8 मैचो मे जीत, 12 मैच मे हार और 10 मैच ड्रॉ रहा है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *