वेस्टइंडीज टीम के 5 सबसे सफल तेज गेंजबाज

क्रिकेट कि दुनिया मे शुरुआती दौर वेस्टइंडीज टीम के नाम रह था, बात करें 1975 वर्ल्ड कप कि या फिर 1979 के वर्ल्ड कप कि वेस्टइंडीज टीम को हराने के लिए अच्छी टीम के पास हिम्मत नही थी। वेस्टइंडीज के नही हारने का कारण था, एक संतुलित टीम मतलब वर्ल्ड क्लास बल्लेबाज और वर्ल्ड क्लास गेंदबाज। हम सभी इस बात से वाकिफ है वेस्टइंडीज टीम हमेशा दुनिया के सामने बेहतर खिलाडीयो को लेकर आती रही है। एक संतुलित टीम के लिए सबसे जरुरी होता बेहतर गेंदबाजो का होना और वो चिज हमेशा से वेस्टइंडीज टीम के पास भरी रही है।

इस आर्टिकल हम आपको वेस्टइंडीज टीम के 5 सबसे सफल तेज गेंजबाज के बारे मे बतायेगे। जिन्होने वेस्टइंडीज टीम के हर जीत मे अहम योगदान दिया है और वेस्टइंडीज टीम को एक बेहतर टीम बनाने मे मदद की है।

1.मैल्कम मार्शल(1978-1992)

80 के दशक के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजो मे से एक और वेस्टइंडीज टीम के अजेय बने रहने वाले टीम के सदस्यो मे से एक इस खिलाडी ने वेस्टइंडीज टीम को अजेय बनाये रखने मे अहम योगदान दिया था। ने। मैल्कम मार्शल ने अपने अंतरर्राष्ट्रीय करीयर मे 81 टेस्ट मैच मे करीब 20.95 के औसत से 376 विकेट हासिल किये है, 136 वनडे मैच मे करीब 26.96 के औसत से 157 विकेट हासिल किया है।

2.सर कर्टली एंब्रोस(1988-2000)

इस खिलाडी के बारे मे आप इस बात से अंदाजा लगा सकते है कि जबतक इस खिलाडी ने अंतरर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेलते है रहे ICC के टॉप रैंकिग मे रहते थे और दुनिया के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजो मे चुने गये। कर्टली एंब्रोस ने अपने अंतरर्राष्ट्रीय करीयर मे 98 टेस्ट मैच मे करीब 20.99 के औसत से 405 विकेट हासिल किये है, 176 वनडे मैच मे करीब 24.13 के औसत से 225 विकेट हासिल किया है।

3.जोएल गार्नर(1977-87)

80 के दशक मे जोएल गार्नर और मैल्कम मार्शल कि जोडि दुनिया कि सबसे घातक गेंदबाजी जोडि मानी जाती थी और वेस्टइंडीज टीम के अजेय बने रहने वाले टीम के सदस्यो मे से एक इस खिलाडी ने वेस्टइंडीज टीम को अजेय बनाये रखने मे अहम योगदान दिया था। जोएल गार्नर  कि गेंदो पर रन बनाना बहुत ही मुश्किल काम था, जोएल गार्नर ने अपने अंतरर्राष्ट्रीय करीयर मे 58 टेस्ट मैच मे करीब 20.98 के औसत से 259 विकेट हासिल किये है, 98 वनडे मैच मे करीब 18.85 के औसत से 146 विकेट हासिल किया है।

4.माइकल होल्डिंग(1975-87)

80 के दशक मे सबसे तेज गेंद डालने वाले इस गेंदबाज को बल्लेबाज सही खेल तक नही पाते थे, इस गेंदबाज के तेज गेंदो के सामने बल्लेबाज सिर्फ खडे रहते थे। माइकल होल्डिंग ने अपने अंतरर्राष्ट्रीय करीयर मे 60 टेस्ट मैच मे करीब 23.69 के औसत से 249 विकेट हासिल किये है, 102 वनडे मैच मे करीब 21.37 के औसत से 142 विकेट हासिल किया है।

5.कर्टनी वॉल्श(1984-2000)

90 के दशक मे दशक मे कर्टनी वॉल्श और कर्टली एंब्रोस कि जोडि दुनिया कि सबसे घातक गेंदबाजी जोडि मानी जाती थी, इस गेंदबाज ने अपने फर्स्ट क्लास करीयर मे 100 से अधिक बार 5 विकेट हॉल लेने का कारनामा किया है। कर्टनी वॉल्श ने अपने अंतरर्राष्ट्रीय करीयर मे 132 टेस्ट मैच मे करीब 24.45 के औसत से 519 विकेट हासिल किये है, 205 वनडे मैच मे करीब 30.48 के औसत से 227 विकेट हासिल किया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *