IPL में Kolkata Knight Riders का अब तक का सफर

इंडियन प्रीमियर लीग की तीसरी सबसे सफल टीम आईपीएल में कोलकता का प्रतिनिधत्व करने वाली Kolkata Knight Riders फ्रेंचाइज़ी जिसके मालिक बॉलिवुड के किंग खान शाहरुख खान के अलावा अभीनेत्री जूही चावला और जय मेहता हैं। कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम आईपीएल में अपने घरेलू मैच ईडन गार्डेन्स मैदान में खेलती है, जो देश का दूसरा सबसे बड़ा दर्शकों की क्षमता के मामले में स्टेडियम हैं।

कोलकाता नाइट राइडर्स को फैंस से बेहद प्यार मिला जिसका प्रमुख कारण उनकी टीम के मालिक शाहरुख भी थे, जिनकी एक्टिंग के पूरे विश्व में काफी फैंस हैं। साल 2011 के आईपीएल सीज़न में टीम ने पहली बार प्लेऑफ में जगह बनायी थी, जिसके बाद टीम साल 2012 के आईपीएल सीज़न में गौतम गंभीर की कप्तानी में विजेता बनी थी। इसके बाद 2014 के सीज़न में टीम ने अपनी इसी सफलता की कहानी को दोहराते हुए फिर से आईपीएल ट्राफी पर कब्जा किया था।

kolkata knight riders 2008

केकेआर की टीम के लिए अभी तक आईपीएल में सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी उनके पूर्व कप्तान गौतम गंभीर हैं, जबकि टीम के लिए IPL में सबसे अधिक विकेट सुनील नारायण ने लिए हैं। कोलकाता नाइट राइडर्स की ब्रैंड वैल्यू को लेकर बात करी जाए तो वह साल 2018 तक 104 मिलियन डॉलर के करीब थी।

आईपीएल में Kolkata Knight Riders टीम का नाम पड़ने के पीछे एक बड़ी कहानी है, क्योंकि 1980 के दशक में आने वाले पॉपुलर अमेरिकन टीवी शो नाइट राइडर्स के नाम को लेते हुए इस टीम का नाम कोलकाता नाइट राइडर्स रखा गया, जिस कारण टीम में किसी समय हार ना मानने का एक जज्बा देखने को मिलता है।

पहले 3 सीज़न में रहा खराब प्रदर्शन

kolkata knight riders images

साल 2008 में आईपीएल का पहला सीज़न खेला गया था, इस सीज़न का पहला मैच रॉयल चैलेंजर्स बैंगलुरु और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच में खेला गया था, जिसमें केकेआर की टीम से खेल रहे ब्रैंडन मैक्कुलम ने 158 रनों की नाबाद शतकीय पारी खेलकर टीम को एक शानदार शुरुआत दिलाई, लेकिन इसके बाद केकेआर की टीम सौरव गांगुली की कप्तानी में पहले सीज़न में अच्छा नहीं कर सकी और उसे अगले दोनों ही मैचो में हार का सामना करना पड़ा। लीग स्टेज़ के 14 मैच खत्म होने के बाद टीम सिर्फ 6 में ही जीत हासिल कर सकी जबकि उसे 7 मैच में हार का सामना करना पड़ा और इस कारण वह 6 वें पायदान पर ही रह गयी।

इसके बाद IPL का दूसरा सीज़न जो आम चुनाव की वजह से दक्षिण अफ्रीका में खेला गया था, उसमें Kolkata Knight Riders की टीम नये कप्तान ब्रैंडन मैक्कुलम के नेतृत्व में खेलने उतरी थी, लेकिन यह सीज़न भी टीम के लिए बेहद खराब बीता था और टीम पूरे सीज़न में खेले गए 14 लीग मैचो में से सिर्फ 3 में ही जीत हासिल कर सकी जिस कारण लीग स्टेज़ खत्म होने के बाद केकेआर की टीम 7 अंको के साथ सबसे निचले पायदान पर खत्म किया था।

इसके बाद तीसरे सीज़न में तस्वीर कुछ अधिक नहीं बदली क्योंकि टीम लीग स्टेज के मैच खत्म होने के बाद 14 मैचो में से 7 जीत और 7 हार के साथ 6 वें स्थान पर ही रही थी, हालांकि इस सीज़न में टीम के पिछले प्रदर्शन को देखते हुए जरूर कुछ सुधार हुआ लेकिन टीम अंतिम 4 में जगह बनाने में कामयाब नहीं हो सकी थी।

2011 के IPL सीज़न से 2014 के सीज़न तक 2 बार बने चैंपियन

इसके बाद साल 2011 के आईपीएल सीज़न से पहले हुई नीलामी प्रक्रिया में टीम मैनेजमैंट ने गौतम गंभीर को काफी महंगे प्राइज में अपनी टीम में शामिल किया था, जिसके बाद उन्हें उस सीज़न में टीम का कप्तान भी बनाया गया और टीम मैनेजमैंट का यह फैसला सही भी साबित हुआ क्योंकि टीम पहली बार अंतिम 4 में अपनी जगह बनाने में सफल हो सकी और लीग स्टेज़ के मैच खत्म होने के बाद केकेआर की टीम ने 14 मैचो में से 8 में जीत हासिल करके चौथे पायदान पर खत्म किया था, जिसके बाद प्लेऑफ में टीम को पहले एलिमिनेटर मैच में मुम्बई इंडियंस से 4 विकेट से हार का सामना करना पड़ा था।

kolkata knight riders

वहीं साल 2012 में खेले गए IPL सीज़न में कोलकाता नाइट राइडर्स ने शानदार प्रदर्शन किया जिसमें टीम ने लीग स्टेज़ के 16 मैचो में से 10 में जीत दर्ज करने के साथ प्वाइंट्स टेबल पर दूसरे स्थान पर खत्म करने के साथ प्लेऑफ में अपनी जगह बनायी। जहां पर पहले क्वालीफायर मैच में टीम का मुकाबला दिल्ली डेयरडेविल्स के साथ हुआ और इसमें टीम ने 18 रनों की जीत दर्ज करके पहली बाद आईपीएल के फाइनल में प्रवेश किया।

फाइनल में टीम का मुकाबला चेन्नई सुपर किंग्स से हुआ और इस मैच में चेन्नई सुपर किंग्स की टीम ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 190 रनों का विशाल स्कोर खड़ा कर दिया जिसके जवाब में Kolkata Knight Riders की टीम के लिए उस सीज़न में सबसे अधिक रन बनाने वाले कप्तान गौतम गंभीर सिर्फ 2 रन बनाकर पवेलियन वापस लौट गए लेकिन मनविंदर बिस्ला और जैक कैलिस ने दूसरे विकेट के लिए शानदार साझेदारी करते हुए टीम को मैच में बनाए रखा और अंत में कोलकाता की टीम ने 2 गेंद शेष रहते हुए 5 विकेट से शानदार जीत दर्ज करते हुए पहली बार आईपीएल चैंपियन बने।

साल 2013 में खेले गए IPL के 6 वें सीज़न में गत विजेता कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए अच्छा नहीं बीता क्योंकि टीम उस सीज़न के प्लेऑफ में भी अपनी जगह को नहीं बना सकी। लीग स्टेज के 16 मैचो में से टीम सिर्फ 6 में ही जीत हासिल कर सकी जबकि उसे 10 में हार का सामना करना पड़ा। इस कारण लीग स्टेज़ के मैच खत्म होने के बाद टीम प्वाइंट्स टेबल में 7 वें स्थान पर रहते हुए खत्म किया।

साल 2014 के आईपीएल सीज़न से पहले हुई नीलामी प्रक्रिया में कोलकाता नाइट राइडर्स ने रॉबिन उथप्पा, क्रिस लिन, पीयूष चावला, उमेश यादव जैसे खिलाड़ियों को शामिल किया। इसके बाद टीम के लिए सीज़न की शुरुआत अच्छी नहीं रही और पहले 7 मैचो में से टीम सिर्फ 2 में जीत हासिल कर सकी

जिसके बाद केकेआर की टीम ने अगले 7 मैचो में शानदार वापसी करते हुए सभी में जीत दर्ज करने के साथ लीग स्टेज़ के मैच खत्म होने के बाद प्वाइंट्स टेबल में 18 अंको के साथ दूसरे स्थान पर खत्म किया। इसके बाद टीम की पहले क्वालीफायर में किंग्स इलेवन पंजाब से भिडंत हुई और केकेआर की टीम ने इस मैच में 28 रन से जीत दर्ज करने के साथ फाइनल में अपनी जगह को सुनिश्चित कर लिया, जहां फाइनल में भी उनकी भिडंत पंजाब की ही टीम से हुई और इस रोमांचक फाइनल मैच में केकेआर की टीम ने 3 विकेट से करीबी जीत दर्ज करते हुए अपना दूसरा IPL खिताब जीता।

2015 के IPL सीज़न से 2019 तक के सीज़न में 3 बार प्लेऑफ तक पहुंचे

साल 2015 के आईपीएल सीज़न में टीम एकबार फिर से गौतम गंभीर की कप्तानी में खेलने उतरी लेकिन टीम के लिए लीग स्टेज़ के मैच काफी उतार चढ़ाव भरे रहे जिसमें शुरूआती 7 मैचो में जहां टीम 3 में जीत और 3 में हार का सामना करना पड़ा तो 1 मैच बारिश के कारण रद्द भी रहा था, इसके बाद केकेआर की टीम ने अगले 7 मैचो में से 4 में जीत दर्ज की लेकिन उन्हें 3 में हार का भी सामना करना पड़ा जिस कारण लीग स्टेज़ के मैच खत्म होने के बाद Kolkata Knight Riders की टीम प्वाइंट्स टेबल पर 15 अंको के साथ 5 वें स्थान पर खत्म कर सकी।

इसके बाद साल 2016 के IPL सीज़न में कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम ने एकबार फिर से गौतम गंभीर की कप्तानी में शानदार वापसी करते हुए लीग स्टेज़ के 14 मैचो में से 8 में जीत दर्ज करने के साथ प्वाइंट्स पर चौथे स्थान पर खत्म करते हुए प्लेऑफ में अपनी जगह को सुनिश्चित किया। जहां एलिमिनेटर मैच में टीम का मुकाबला सनराइजर्स हैदराबाद के साथ हुआ और इस मैच में टीम को 22 रनों की हार का सामना करना पड़ा जिसके बाद टीम का यह सीज़न भी यहीं खत्म हो गया।

साल 2017 के आईपीएल सीज़न में कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम ने ऑक्शन में क्रिस वोक्स, ट्रेंट बोल्ट, रिषी धवन, डॉरेन ब्रावो जैसे खिलाड़ियों को अपनी टीम में शामिल किया। गौतम गंभीर ने इस सीज़न में भी टीम के लिए बल्ले से शानदार प्रदर्शन किया और इस कारण टीम लीग स्टेज़ के 14 मैचो में से 8 में जीत दर्ज करके चौथे पायदान पर रहते हुए प्लेऑफ के लिए अपनी जगह को सुनिश्चित कर लिया।

इस सीज़न में टीम को एलिमिनेटर मैच में सनराइजर्स हैदरबादा के खिलाफ डकवर्थ लुईस नियम के अनुसार 7 विकेट से जीत मिली जिसके बाद केकेआर की टीम को दूसरे क्वालीफायर मैच में मुम्बई इंडियंस से भिडना था और इस मैच में टीम पहले बल्लेबाज़ी करते हुए सिर्फ 107 रन बनाकर सिमट गयी जिसके बाद मुम्बई की टीम ने उस मैच में 6 विकेट से जीत दर्ज करने के साथ केकेआर को फाइनल की रेस से बाहर कर दिया।

साल 2018 के आईपीएल सीज़न में Kolkata Knight Riders की कप्तानी में बड़ा बदलाव देखने को मिला जिसमें पिछले कई सीज़न से टीम के लिए कप्तानी कर रहे और 2 बार चैंपियन बनाने वाले गौतम गंभीर टीम का हिस्सा नहीं थे, जिसके बाद नीलामी के दौरान टीम मैनेजमैंट ने दिनेश कार्तिक को लिया जिनको टीम की कमान सौंपी गयी।

कार्तिक की कप्तानी में टीम ने शानदार खेल दिखाते हुए लीग स्टेज़ के 14 मैचो में से 8 में जीत दर्ज करके प्वाइंट्स टेबल में तीसरे स्थान पर रहते हुए खत्म किया जिसके बाद टीम की एलिमिनेटर मैच में राजस्थान रॉयल्स से भिडंत हुई और इस मैच में भी टीम ने 25 रनों से जीत हासिल करने के साथ दूसरे क्वालीफायर में अपनी जगह को बना लिया,

जिसके बाद दूसरे क्वालीपायर मैच में टीम की भिडंत सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ हुई और इस मैच में हैदराबाद की टीम ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 174 रन बना दिए जिसके जवाब में कोलकाता की टीम 20 ओवरों में सिर्फ 160 रन ही बना सकी और उसे 14 रनों से हार का सामना करना पड़ा।

साल 2019 में खेले गए IPL के 12 वें सीज़न में एकबार फिर से टीम दिनेश कार्तिक के नेतृत्व में खेलने उतरी, जिसमें टीम ने सीज़न के अपने पहले मैच में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ शानदार 6 विकेट की जीत के साथ आगाज किया और शुरुआती 7 मैचो में से 4 में जीत हासिल की जबकि 3 में हार के साथ 1 मैच टाई पर रोकने में कामयाब रहे।

लेकिन टीम अपने अगले 7 मैचो में सिर्फ 2 में ही जीत हासिल कर सकी जबकि उसे 5 मैचो में हार का सामना करना पड़ा और इस कारण लीग स्टेज़ के मैच खत्म होने के बाद टीम 12 अंको के साथ 5 वें पायदान पर खत्म कर सकी। इस सीज़न टीम के लिए आंद्रे रसल ने बल्ले से भी सबसे अधिक 510 रन बनाने के साथ गेंदबाज़ी में भी सबसे अधिक 11 विकेट हासिल किए और पूरे सीज़न वह टीम के लिए एक मैच विनर खिलाड़ी बन रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *