New Zealand vs India के बीच होने वाले दूसरे टेस्ट मैच से पहले डालिए एक नजर कुछ रिकॉर्ड्स पर

india-vs-new-zealand-2nd-test

भारतीय टीम इस समय न्यूज़ीलैंड के दौरे पर है, जहां पर वह टी20 और वनडे सीरीज खेलने के बाद टेस्ट सीरीज खेलने में व्यस्त जिसके पहले मैच में टीम इंडिया को 10 विकेट से शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा और अब सीरीज का दूसरा और आखिरी टेस्ट मैच 29 फरवरी से क्राइसचर्च के मैदान में खेला जाएगा, जिसमें टीम इंडिया की कोशिश जीत हासिल करके सीरीज को बराबर करने को लेकर होगी।

पहले टेस्ट मैच में भारतीय टीम का बल्लेबाजी क्रम पूरी तरह से ध्वस्त दिखाई दिया जिसमें टीम दोनों ही पारियों में 200 से कम के स्कोर में सिमट गयी। आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप शुरु होने के बाद भारतीय टीम को यह पहली हार मिली है और इसी कारण टीम को दूसरे मैच में वापसी करके 60 अंक बटोरने की कोशिश करनी होगी।

यहां पर देखिए दूसरे टेस्ट मैच से पहले कुछ महत्तवपूर्ण रिकॉर्ड्स को लेकर

Ahead Of India Tour To New Zealand BCCI Is Taking A Cautious Approach After Last Year Attack In Christchurch

साल 2009 में भारतीय टीम को न्यूजीलैंड की जमीन पर हैमिल्टन टेस्ट मैच में मिली जीत पिछले 43 सालों में एकमात्र जीत है। वहीं पिछले 19 टेस्ट मैच को लेकर बात करी जाए तो उसमें से 8 में टीम इंडिया को हार का सामना करना पड़ा है, तो वहीं 10 टेस्ट मैच ड्रा पर खत्म हुए हैं।


नील वैगनर ने मौजूदा भारतीय टीम के खिलाड़ियों में विराट कोहली को सबसे ज्यादा 3 बार ऑउट किया है। वैगनर पहले टेस्ट मैच में फिट ना होने की वजह से अंतिम एकादश का हिस्सा नहीं थे।


क्राइसचर्च के हेगली ओवल में न्यूज़ीलैंड ने 6 टेस्ट मैचो मेें 4 में जीत हासिल की है, जबकि 1 मैच ड्रा और 1 में उसे साल 2016 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था। हेगली ओवल में भारतीय टीम किसी भी फार्मेट में इस मैदान में अपना पहला मैच खेलने उतरेगी।


इस समय भारतीय टीम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 4 मैच लगातार हार चुकी है और यदि टीम इंडिया आखिरी टेस्ट मैच भी हार जाती है, तो यह साल 2011-12 के बाद दूसरी बार ऐसा होगा जब टीम इंडिया को 5 लगातार अंतरराष्ट्रीय मैचो में हार का सामना करना पड़ा है।


पिछली 5 टेस्ट सीरीज में जो न्यूजीलैंड ने अपने घर पर खेली हैं, उसमें सभी में उन्होंने जीत हासिल की है, जो उनकी घर पर जीत का सबसे लम्बा सिलसिला है।


चेतेश्वर पुजारा का न्यूज़ीलैंड में टेस्ट क्रिकेट औसत सिर्फ 13.67 का है। पुजारा ने 6 पारियों में 82 रन बनाये हैं, जिसमें उन्होंने 23 रनों की सर्वाधिक पारी खेली है। पिछली 12 टेस्ट पारियों में पुजारा एक भी शतक नहीं लगा सके हैं और उन्होंने अपना आखिरी शतक साल 2019 में सिडनी टेस्ट मैच में लगाया था।


पिछले 16 टेस्ट मैच में न्यूज़ीलैंड ने घर पर टॉस जीतने के बाद पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया है। आखिरी बार साल 2011 में न्यूज़ीलैंड ने अपने घर पर टॉस जीतने के बाद पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया था, पाकिस्तान के खिलाफ वेलिंग्टन टेस्ट मैच में हुआ था।


रविचंद्रन अश्विन को प्रथम श्रेणी क्रिकेट में अपने 600 विकेट पूरे करने के लिए सिर्फ 2 विकेट और हासिल करने हैं, वहीं न्यूज़ीलैंड के खिलाफ अश्विन को अपने 50 टेस्ट विकेट पूरे करने के लिए भी 2 विकेट हासिल करने की जरुरत है।


ओपनिंग बल्लेबाज मयंक अग्रवाल अभी तक अपने टेस्ट करियर की 15 पारियों में 964 रन बना चुके, यदि मयंक अगली 2 पारियों 36 और रन बना लेते हैं, तो वह टेस्ट क्रिकेट में 1000 रन पूरे करने के मामले में विनोद कांबली के बाद दूसरे खिलाड़ी बन जायेंगे।


विराट कोहली यदि दूसरे टेस्ट मैच में 116 रन बना लेते हैं, तो वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 22000 रन पूरे करने वाले तीसरे भारतीय खिलाड़ी बन जायेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *